Advertisements

સોરઠના ભાભાએ વહુબેટાને ઉપાડી લીધી

THIS VIDEO DOESNT HAVE GRAPHICS YOU CAN SAY SEXY, BUSTY, NUDE.. BUT IT is revealing SOCIAL TABOO. IT IS REVEALING DARKEST SIDE OF STATUS OF WOMEN IN INDIAN PATRIARCHIAL FAMILY. No matter how they (males) consider themselves as conservative or saviour of culture but they see the women of their family in materialistic approach. it is from saurashtra region of gujarat. इनकी बोलीसे साफ पता चलता है की यह दास्तान एक गुजरात के काठियावाड के परिवारकी है. जीसमे बहुत ही सहज भाव से बुढा लपक कर अपनी पतली सी कमसीन बहु के कुल्हो की रगड का मजा अपने लंद और जंघो को दे देता है. बहु जरासी भी असहज नही होती पर इसका ये मतलब कतइ नही की वह एक रांड है पर वह इस बडे घीनौने पुरुशप्रधान समाज की एक अनुकुलीत तत्व मात्र है. वह विरोध कर के भी क्या उखाड लेने वाली थी? समाज कौनसा उसे उचा सा ओह्दा दे देने वाला था? वह तो फीरभी मर्द के पैरो की जुती मात्र ही रहती. यह सब अपने जीवन अनुभव से समजने के कारण वह एक अच्छी आदर्श बहु बनने का जीतना केहलो उतना प्रयास कर रही है. आखीर बुढा उसे चीत कर देता है चौद ही लेता है, बहु फक्त थोडा सा ना-नुकर करती है, बुढे को स्खलन हो जाता है.. पर इस पुरुषप्रधान समाज का ध्योतक वह बुढा इसका इल्जाम भी बहु के सर रख देता है. वह इस बात पर वह काठियावाडी मे केहते है. बुढा : "मझा ही नही आता जब तुम ना-नुकर करती हो. एक तरफ से तुम्हे चुदाना भी है और ना भी केहना है" बहु : "नही नही ऐसा नही है" बुढा : "ठीक से चुदवाया करो" LINK 1 : SASUR AND BAHU FROM GUJARAT MP4 24MB LINK 2 : SASUR AND BAHU FROM GUJARAT MP4 24MB 2021-06-28 (80).png2021-06-28 (94).png2021-06-28 (95).png2021-06-28 (96).png2021-06-28 (97).png2021-06-28 (98).png2021-06-28 (99).png

Iklan Atas Artikel

Iklan Tengah Artikel 1

Iklan Tengah Artikel 2

Iklan Bawah Artikel